विश्व के आर्थिक विकास पर वैश्वीकरण के प्रभाव का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत कीजिये।

 प्रश्न 

विश्व के आर्थिक विकास पर वैश्वीकरण के प्रभाव का संक्षिप्त विवरण प्रस्तुत कीजिये। (UPPSC, 2020, 15 marks)

उत्तर 

वैश्वीकरण ने देशों को नजदीक और एक दूसरे पर आश्रित बना दिया है।। वैश्वीकरण से समाज, अर्थव्यवस्था, पर्यावरण, संस्कृति और राजनीति सब को सकारात्मक और नकारात्मक दोनों तरीके से प्रभावित किया हैं।

विश्व के आर्थिक विकास पर वैश्वीकरण के सकारात्मक प्रभाव निम्नलिखित हैं:

वैश्वीकरण, फर्मों को विदेशों से सस्ता कच्चा माल खरीदने की स्वतंत्रता प्रदान करता है जो उपभोक्ताओं को सस्ते विनिर्माण उत्पाद मिलते है साथ ही कच्चे माल के उत्पादक करने वाले देश के लाखो लोगो को कमाई और रोजगार में वृद्धि होती है।

उदाहरण के लिए,

  • वैश्वीकरण के कारण, वियतनाम में चावल की कीमतों और मांग में वृद्धि हुई जिससे कई चावल के किसान गरीबी से बाहर आ गए।
  • विदेशों से मांग के कारण भारत और पाकिस्तान के कपास और आम किसानों को लाभ मिला है।

चूंकि वैश्वीकरण फर्मों को सस्ते श्रम के क्षेत्र में अपना विनिर्माण स्थापित करने की स्वतंत्रता प्रदान करता है, इसलिए विकासशील देशों को लोगों को रोजगार दिलाने और लोगों के जीवन स्तर को बढ़ाने से लाभ मिलता है।

उदाहरण के लिए,

  • संयुक्त राज्य अमेरिका से कई ऑटोमोबाइल उद्योग सस्ते श्रम के लिए मैक्सिको में स्थानांतरित हो गए।
  • अमेरिका से चीन में मैन्युफैक्चरिंग शिफ्ट होने से सबसे ज्यादा फायदा चीन को हुआ है।
  • विदेशों से सेवा संबंधी कई नौकरियां सस्ते श्रम के लिए भारत में ठेके पर दी जाती हैं।

प्रतिस्पर्धी कीमतों पर उच्च गुणवत्ता वाली वस्तुओं और सेवाओं की किस्मों को प्राप्त करने से उपभोक्ताओं को लाभ होता है।

विश्व के आर्थिक विकास पर वैश्वीकरण के नकारात्मक प्रभाव निम्नलिखित हैं:

श्रमिकों  का शोषण :

सस्ते श्रम के लिए बांग्लादेश में वस्त्रों की कई बहुराष्ट्रीय कंपनियाँ स्थापित है । यह अनुमान लगाया गया है कि बांग्लादेश में श्रमिकों का औसत मासिक वेतन संयुक्त राज्य अमेरिका में उसी काम के एक दिन के वेतन से भी कम मिलता है।

नौकरी की असुरक्षा:

विकासशील देशों के सस्ते वेतन का मुकाबला, विकसित देशों के बहुत से कामगारों नहीं कर पाते है जिससे उनकी नौकरी जाने का खतरा बना रहता  है।

बढ़ती आय असमानता:

  • वैश्वीकरण के कारण अमीर और अमीर होता गया और गरीब और गरीब होता गया।


You may like:

Previous
Next Post »