अंतर्वेधी आकृतियों से आप क्या समझते है ? विभिन्न अंतर्वेधी आकृतियों का संक्षेप में वर्णन करें |

 सवाल  

अंतर्वेधी आकृतियों से आप क्या समझते है ? विभिन्न अंतर्वेधी आकृतियों का संक्षेप में वर्णन करें  | 

उत्तर 

ज्वालामुखी के उदगार से जो लावा निकलता है उसमे से कुछ लावा पृथ्वी के सतह पर पहुंचने से पहले ही, पृथ्वी के भूपर्पटी के अंदर ही  ठंडा हो जाता है और अनेक प्रकार के स्थलाकृत बनाता है इन स्थलाकृति को अंतर्वेधी आकृति कहते है | 

विभिन्न अंतर्वेधी आकृतिया निम्नलिखित है 

  • बैथोलिथ( Batholiths
  • लैकोलिथ (Lacoliths)
  • शीट्स और सिल (Sheets and Sills)
  • डाइक (Dykes)

अंतर्वेधी आकृतियों

Image Sc: NCERT

बैथोलिथ:

  • जब लावा भूपर्पटी के अधिक गहराई पर बहुत बड़े गुंबद के आकार में विकसित  हो जाता है तो उसे बैथोलिथ कहते है  | 

लैकोलिथ 

  • लैकोलिथ भी बैथोलिथ जैसा होता है लेकिन इसका आकार से बैथोलिथ कम होता है और यह बैथोलिथ से कम गहरे पर होता है इसकी तल पाइप रूपी वाहक नली नीचे  से जुडी होती है | 

शीट्स और सिल:

  • जब लावा भूपर्पटी केअंदर  ही क्षैतिक रूप में ठंडा हो जाता है तो उसे शीट या सिल कहते है | जब जमाव की मोटाई पतली होती है तो उसे शीट कहते है और जब जमाव की मोटाई मोटी होती है तो उसे सिल कहते है  |

डाइक:

  • जब लावा भूपर्पटी केअंदर  दीवार जैसा समकोण होकर ठंडा होता है तो उसे डाइक बोलते है |   
You may like also:
Previous
Next Post »