भूकंपीय गतिविधियों के अतिरिक्त भूगर्भ की जानकारी संबंधी अप्रत्यक्ष साधनो का संक्षेप में वर्णन करे

 सवाल :

भूकंपीय गतिविधियों के अतिरिक्त भूगर्भ की जानकारी संबंधी अप्रत्यक्ष साधनो का संक्षेप में वर्णन करे | 

उत्तर 

पृथ्वी के आंतरिक भाग के बारे में जानकारी के अप्रत्यक्ष स्रोत निम्नलिखित हैं:

  • उल्का विश्लेषण
  • पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल
  • पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र
  • चट्टान के गुणों का विश्लेषण
  • भूकंपीय गतिविधियाँ या भूकंप

उल्का विश्लेषण:

उल्काओं में उपलब्ध पदार्थ और संरचना, पृथ्वी के पदार्थ व संरचना से मिलती है | उल्काओ के अध्धयन से बहुत कुछ जानकारी हमारे पृथ्वी के बारे म मिलती है क्योकि दोनों ही एक ही पदार्थ  से मिल कर बने है | 

पृथ्वी का गुरुत्वाकर्षण बल:

पृथ्वी पर गुरुत्व बल सभी अक्षांसो पर सामान नहीं है, यह भूमध्य रेखा पर कम है और ध्रुव पर सबसे ज्यादा पाया जाता है | ध्रुवो पर गुरुत्वबल ज्यादा है इसलिए क्योकि पृथ्वी के केंद्र से ध्रुव के बीच  के दुरी केंद्र से बगूमध्य रेखा के दुरी से कम है| गुरुत्वाकर्षण बल में भिन्नता, पदार्थों के आसमान वितरण से भी होता है| इस से यह निष्कर्ष निकलता है की, पृथ्वी भूमध्य रेखा पर उभरी हुए है और ध्रुव पर चपटी है और पृथवी के आतंरिक भाग में पदार्थो के असमान वितरण है | 

पृथ्वी का चुंबकीय क्षेत्र:

पृथ्वी के चुंबकीय क्षेत्र से हम निष्कर्ष निकल सकते है कि पृथ्वी के आतंरिक भाग में "संवहन धारा" बहती है | यह "संवहन धारा" पृथ्वी के बाह्य क्रोड से उत्पन्न होती है जो  पिघला हुए लोहा और निकिल मिश्रण से बना है  | 

चट्टान के गुणों का विश्लेषण:

चट्टान के गुण धर्म विश्लेषण से हमें पृथ्वी के आतंरिक भाग की जानकारी प्राप्त होती है पृथ्वी के खनन से हमें पता चलता है की गहराई बढने पर वह मिलने वाले चट्टानों की घनत्व बढ़ती है  | तापमान, दबाब, व् धनत्व में परिवर्तित दर से वैज्ञानिको ने पृथ्वी के विभिन्न गहराइयों पर अनुमानित  तापमान, दबाब, व् धनत्व ज्ञात की है |


You may like also:

Previous
Next Post »