तापीय एवं नवीन संकल्पनाओं के सन्दर्भ में मानसून की उत्पत्ति की विवेचना कीजिये।

 प्रश्न। 

तापीय एवं नवीन संकल्पनाओं के सन्दर्भ में मानसून की उत्पत्ति की विवेचना कीजिये। ( UPPSC 2020)

उत्तर। 

मानसून हवाओं का एक मौसमी हवा है और मानसून शब्द पहली बार अरबी भूगोलवेत्ता अल मसूदी द्वारा उपयोग किया था जो कि अरब शब्द "मौसम" से बना हुआ है। 

मानसूनी हवाओं की उत्पत्ति मुख्य रूप से उत्तर और दक्षिण की ओर सूर्य की गति के कारण होती है। ऐसे कई सिद्धांत हैं जो मानसून की उत्पत्ति की व्याख्या करते हैं और कोई भी सिद्धांत पूरी तरह से मानसून की घटना की व्याख्या नहीं कर पाता  है।

मानसून की उत्पत्ति की तापीय अवधारणा:

  • 1686 में, सर एडमंड हैली ने वायुमंडलीय परिसंचरण के परंपरागत ज्ञान के आधार पर मानसून की उत्पत्ति की व्याख्या करने की कोशिश की। हैली के अनुसार:
  • मानसून और कुछ नहीं बल्कि भूमि और समुद्र के असमान ताप और शीतलन के कारण बड़े पैमाने पर समुद्र-समीर और स्थल-समीर का विस्तार है।
  • गर्मियों में, कर्क रेखा पर सूर्य के लंबवत प्रकाश पड़ते है जिसके चलते भारतीय उपमहाद्वीप अधिक गर्म हो जाता है और भूमि में निम्न वायुमंडलीय स्थिति विकसित होती है और समुद्र पर उच्च वायुमंडलीय स्थिति विकसित हो जाती है जिससे समुद्र से भूमि की ओर हवा की गति होने लगती है। 
  • सर्दियों में, सूर्य मकर रेखा पर ऊपर की ओर होता है, परिणामस्वरूप, समुद्र में निम्न वायुमंडलीय दाब  विकसित हो जाती हैं और भूमि में उच्च वायुमंडलीय स्थितियां विकसित होती हैं जो जिससे पवन भूमि से समुद्र की ओर बहने लगती हैं।
मानसून की उत्पत्ति पर नवीन संकल्पना

मानसून की तापीय अवधारणा की कई आधुनिक जलवायु विज्ञानियों द्वारा आलोचना की जाती है क्योंकि यह मानसून की गतिशील प्रकृति और असमान वर्षा की तीव्रता और अवधि दोनों की व्याख्या करने में सक्षम नहीं है। मानसून की उत्पत्ति की हालिया अवधारणा में मानसून की उत्पत्ति और तंत्र को पूरी तरह से समझने के लिए कई चीजों को शामिल करने की कोशिश की गई है।

वायुमंडलीय कारक

  • आईटीसीजेड की भूमिका
  • उपोष्णकटिबंधीय पश्चिमी जेट स्ट्रीम
  • उष्णकटिबंधीय पूर्वी जेट स्ट्रीम
  • मेडागास्कर के पूर्व में उच्च दबाव क्षेत्र

महासागरीय कारक

  • एल नीनो
  • ना निना
  • ओशनिक नीनो इंडेक्स (ONI)
  • दक्षिणी दोलन (SO)
  • SOI- दक्षिणी दोलन सूचकांक
  • ENSO-अल नीनो दक्षिणी दोलन
  • हिन्द महासागर द्विध्रुव-IOD

उच्चावच (relief) और पहाड़

  • हिमालय और तिब्बती पठार की भूमिका
  • अराकान पर्वत


उपरोक्त सभी कारकों के संयोजन ने मानसून की उत्पत्ति की व्याख्या करने का प्रयास किया।


You May like:

Previous
Next Post »