विभेदन प्रक्रिया से आप क्या समझते है?

  हल्के पदार्थों और सघन पदार्थों के पृथक्करण को विभेदन की प्रक्रिया कहा जाता है। पृथ्वी की विभिन्न परतें जैसे क्रस्ट, मेंटल और कोर विभेदीकरण की प्रक्रिया से बनी है ।

पृथ्वी की परत दर संरचना  निर्माण विभेदीकरण  प्रक्रिया दो चरणों में हुई है:

  • प्रारंभिक अवस्था में, पृथ्वी के अंदर घनत्व में क्रमिक वृद्धि से तापमान में वृद्धि होती है। परिणामस्वरूप, पृथ्वी के अंदर की सामग्री घनत्व के आधार पर अलग होने लगी; लोहे जैसे भारी पदार्थ क्रोड (core) की  ओर चले गए और हल्के पदार्थ जैसे सिलिकॉन और एल्युमिनियम सतह ( Crust) की ओर आ गये  हैं। इससे बाहरी सतह का विकास हुआ जिसे भूपर्पटी  कहा जाता है।
  • दूसरे चरण में, चंद्रमा के निर्माण के दौरान और विशाल टक्कर ( giant impact) के कारण, पृथ्वी और अधिक गर्म हो गई और विभेदन की प्रक्रिया फिर से हुई जिससे पृथ्वी की  तीन-परत का निर्माण हुआ जो भूपर्पटी(crust), मैंटल (Mantle), और क्रोड (Core) है।
You may like also:
Previous
Next Post »

3 comments

Click here for comments
TORAB FATAH
admin
26 November 2021 at 14:55 ×

Itna accha se defination diya hua hai itna Accha se to book me bhi nahi diya hua hai good👍👍👍👍👍👍👍

Reply
avatar
TORAB FATAH
admin
26 November 2021 at 15:03 ×

Hey blogger
Am i your first commenter

Reply
avatar